Deshbhakti Geet for School Assembly

यहां कुछ प्रसिद्ध भारतीय राष्ट्रभक्ति गीत हैं जो फिल्मों के साथ हैं:

  1. “वंदे मातरम्” – फिल्म “आनंद मठ” (1952) से।
  2. “मेरा रंग दे बसंती चोला” – फिल्म “द लेजेंड ऑफ भगत सिंह” (2002) से।
  3. “ऐ मेरे वतन के लोगों” – फिल्म “हकीकत” (1964) से।
  4. “ऐ वतन” – फिल्म “राज़ी” (2018) से।
  5. “सरफरोशी की तमन्ना” – फिल्म “द लेजेंड ऑफ भगत सिंह” (2002) से।
  6. “नन्हा मुन्ना राही हूँ” – फिल्म “सन ऑफ इंडिया” (1962) से।
  7. “ऐसा देस है मेरा” – फिल्म “वीर-ज़ारा” (2004) से।
  8. “कर चले हम फिदा” – फिल्म “हकीकत” (1964) से।
  9. “ये जो देश है तेरा” – फिल्म “स्वदेश” (2004) से।
  10. “ऐ मेरे प्यारे वतन” – फिल्म “काबुलीवाला” (1961) से।

ये गीत बहुत सालों से भारतीयों के बीच राष्ट्रभक्ति और देश के प्रति प्यार की भावना को जगाने में महत्वपूर्ण रहे हैं।

1. नन्हा मुन्ना राही हूं

सन ऑफ इंडिया फिल्म का यह गीत हर बच्चे को देशभक्ति के साथ-साथ देश को आगे बढ़ाने की प्रेरणा देता है।

नन्हा मुन्ना राही हूं, देश का सिपाही हूं,
बोलो मेरे संग, जय हिन्द, जय हिन्द, जय हिन्द।
जय हिन्द, जय हिन्द।

नन्हा मुन्ना राही हूं, देश का सिपाही हूं,
बोलो मेरे संग, जय हिन्द, जय हिन्द, जय हिन्द।
जय हिन्द, जय हिन्द।

रस्ते पे चलूंगा न डर-डर के,
चाहे मुझे जीना पड़े मर-मर के,
मंजिल से पहले न लूंगा कहीं दम,
आगे ही आगे बढ़ाऊंगा कदम,
दाहिने बाएं दाहिने बाएं, थम।
नन्हा मुन्ना राही हूं…

धूप में पसीना मैं बहाऊंगा जहां,
हरे-भरे खेत लहराएगें वहां,
धरती पे फाके न पाएगें जन्म,
आगे ही आगे बढ़ाऊंगा कदम,
दाहिने बाएं दाहिने बाएं, थम।
नन्हा मुन्ना राही हूं…

नया है जमाना मेरी नई है डगर,
देश को बनाऊंगा मशीनों का नगर,
भारत किसी से रहेगा नही कम,
आगे ही आगे बढ़ाऊंगा कदम,
दाहिने बाएं दाहिने बाएं, थम।
नन्हा मुन्ना राही हूं…

बड़ा हो के देश का सहारा बनूंगा,
दुनिया की आंखों का तारा बनूंगा,
रखूंगा ऊंचा तिरंगा परचम,
आगे ही आगे बढ़ाऊंगा कदम,
दाहिने बाएं दाहिने बाएं, थम।
नन्हा मुन्ना राही हूं…

शांति की नगरी है मेरा ये वतन,
सबको सिखाऊंगा मैं प्यार का चलन,
दुनिया में गिरने न दूंगा कहीं बम,
आगे ही आगे बढ़ाऊंगा कदम,
दाहिने बाएं दाहिने बाएं, थम।
नन्हा मुन्ना राही हूं…

2. छोड़ो कल की बातें

यह देशभक्ति गीत हम हिन्दुस्तानी फिल्म से लिया गया है। यह गाना बच्चों के लिए मुसीबत से लड़ने और हमेशा आगे बढ़ने का संदेश देता है।

छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी,
नये दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …

छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी,
नये दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …

आज पुरानी जंजीरों को तोड़ चुके हैं,
क्या देखें उस मंजिल को जो छोड़ चुके हैं,
चांद के दर पे जा पहुंचा है आज जमाना,
नए जगत से हम भी नाता जोड़ चुके हैं,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …
छोड़ो कल की बातें …..

मको कितने ताजमहल हैं और बनाने,
कितने ही अजंता हम को और सजाने,
अभी पलटना है रुख कितने दरियाओं का,
कितने पर्वत राहों से हैं आज हटाने,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …
छोड़ो कल की बातें….

आओ मेहनत को अपना ईमान बनाएं,
अपने हाथों को अपना भगवान बनाएं,
राम की इस धरती को गौतम की भूमि को,
सपनों से भी प्यारा हिंदुस्तान बनाएं,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी …
छोड़ो कल की बातें….

हर जर्रा है मोती आंख उठाकर देखो,
माटी में सोना है हाथ बढ़ाकर देखो,
सोने की ये गंगा है चांदी की यमुना,
चाहो तो पत्थर से धान उगाकर देखो,
नया खून है, नई उमंगें, अब है नई जवानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी…
छोड़ो कल की बातें….

छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी,
नये दौर में लिखेंगे मिलकर नई कहानी,
हम हिन्दुस्तानी, हम हिन्दुस्तानी … 2

3. सर झुका सकते नहीं

बच्चों के दिलों में देशभक्ति का जुनून भर देने वाला यह गाना लीडर फिल्म से लिया गया है, जो बच्चों को भी अच्छा लीडर बनने को प्रेरित करता है।

अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं,
अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं,

सर कटा सकते हैं, लेकिन सर झुका सकते नहीं।
सर झुका सकते नहीं।

हमने सदियों में ये आजादी की नेमत पाई है,
हमने ये नेमत पाई है,
सैंकड़ों कुर्बानियां देकर ये दौलत पाई है,
हमने ये दौलत पाई है
मुस्कुरा कर खाई हैं सीनों पे अपने गोलियां,
सीनों पे अपने गोलियां,
कितने वीरानों से गुजरे हैं, तो जन्नत पाई है,
खाक में हम अपनी इज्जत को मिला सकते नहीं,
अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं…

क्या चलेगी जुल्म की अहले-वफा के सामने,
अहले-वफा के सामने,
आ नहीं सकता कोई शोला हवा के सामने,
शोला हवा के सामने,
लाख फौजें ले के आए अमन का दुश्मन कोई,
लाख फौजें ले के आए अमन का दुश्मन कोई,
रुक नहीं सकता हमारी एकता के सामने,
हम वो पत्थर हैं, जिसे दुश्मन हिला सकते नहीं,
अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं…
सर कटा सकते हैं, लेकिन सर झुका सकते नहीं।
सर झुका सकते नहीं।

वक्त की आवाज के हम साथ चलते जाएंगे,
हम साथ चलते जाएंगे,
हर कदम पर जिन्दगी का रुख बदलते जाएंगे,
हम रुख बदलते जाएंगे,
गर वतन में भी मिलेगा कोई गद्दारे वतन,
जो कोई गद्दारे वतन,
अपनी ताकत से हम उसका सर कुचलते जाएंगे,
एक धोखा खा चुके हैं और खा सकते नहीं,
अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं…
वंदे मातरम, वंदे मातरम, वंदे मातरम,

हम वतन के नौजवां हैं हम से जो टकराएगा,
हम से जो टकराएगा,
वो हमारी ठोकरों से खाक में मिल जाएगा,
खाक में मिल जाएगा,
वक्त के तूफान में बह जाएंगे जुल्मो-सितम,
आसमां पर ये तिरंगा उम्र भर लहराएगा,
उम्र भर लहराएगा,
जो सबक बापू ने सिखलाया भुला सकते नहीं,
सर कटा सकते है लेकिन सर झुका सकते नहीं…
सर कटा सकते है लेकिन सर झुका सकते नहीं…

4. आई लव माय इंडिया

परदेस फिल्म का यह गीत भारत का गुणगान करने के साथ-साथ बच्चों के दिलों में बसे देशप्रेम को दर्शाता है।

लंदन देखा, पेरिस देखा,
लंदन देखा, पेरिस देखा और देखा जापान,
माइकल देखा, एल्विस देखा, सब देखा मेरी जान,
सारे जग में कहीं नहीं है दूसरा हिंदुस्तान,
दूसरा हिंदुस्तान, दूसरा हिंदुस्तान

ये दुनिया एक दुल्हन,
ये दुनिया एक दुल्हन, दुल्हन के माथे की बिंदिया,
ये मेरा इंडिया, ये मेरा इंडिया,
आई लव माय इंडिया, आई लव माय इंडिया……

ये दुनिया एक दुल्हन,
ये दुनिया एक दुल्हन, दुल्हन के माथे की बिंदिया,
ये मेरा इंडिया, ये मेरा इंडिया,
आई लव माय इंडिया, आई लव माय इंडिया……

जब छेड़ा मल्हार किसी ने, झूम के सावन आया,
आग लगा दी पानी में जब, दीपक राग सुनाया,
सात सुरों का संगम ये जीवन गीतों की माला,
हम अपने भगवान को भी कहते हैं बांसुरी वाला,
बांसुरी वाला, बांसुरी वाला
यह मेरा इंडिया, आई लव माय इंडिया……
यह मेरा इंडिया, आई लव माय इंडिया……

पीहू पीहू बोले पपीहा, कोयल कुहू कुहू गाए,
हंसते रोते हमने जीवन के सब गीत बनाए,
यह सारी दुनिया अपने अपने गीतों को गाए,
गीत वो गाओ जिससे इस मिट्टी की खुशबू आए,
मिट्टी की खुशबू आए, आई लव इंडिया, आई लव माय इंडिया……
आई लव इंडिया, आई लव माय इंडिया……
वतन मेरा इंडिया, सजन मेरा इंडिया

ये दुनिया ये दुनिया, इक दुल्हन, इक दुल्हन
ये दुनिया, इक दुल्हन, दुल्हन के माथे की बिंदिया,
ये मेरा इंडिया, यह मेरा इंडिया,
आई लव माय इंडिया, आई लव माय इंडिया……
वतन मेरा इंडिया, सजन मेरा इंडिया
करम मेरा इंडिया, धरम मेरा इंडिया…
हो माय इंडिया, हो माय इंडिया, हो माय इंडिया, हो माय इंडिया,
जान माय इंडिया,

5. जिस देश में गंगा बहती है

जिस देश में गंगा बहती है फिल्म के इस गाने में देश और देश में रहने वाले लोगों के अंदर की अच्छाई और सच्चाई को बताया जा रहा है।

होठों पे सच्चाई रहती है, जहां दिल में सफाई रहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

होठों पे सच्चाई रहती है, जहां दिल में सफाई रहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

मेहमां जो हमारा होता है, वो जान से प्यारा होता है,
मेहमां जो हमारा होता है, वो जान से प्यारा होता है,
ज्यादा की नहीं लालच हमको, थोड़े में गुजारा होता है,
थोड़े में गुजारा होता है,
बच्चों के लिए जो धरती मां, सदियों से सभी कुछ सहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

कुछ लोग जो ज्यादा जानते हैं, इंसान को कम पहचानते हैं,
कुछ लोग जो ज्यादा जानते हैं, इंसान को कम पहचानते हैं,
ये पूरब है पूरब वाले, हर जान की कीमत जानते हैं,
हर जान की कीमत जानते हैं,
मिल जुल के रहो और प्यार करो, एक चीज यही जो रहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है

होठों पे सच्चाई रहती है, जहां दिल में सफाई रहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

हम कल क्या थे हम आज हैं क्या इसका ही नहीं अभिमान हमें,
हम कल क्या थे हम आज हैं क्या इसका ही नहीं अभिमान हमें,
जिस राह पे आगे बढ़ना है, है उसकी भी पहचान हमें,
है उसकी भी पहचान हमें,
इस धारा को किसने रोका, ये बंधके भला कब रहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है

जो जिससे मिला सीखा हमने, गैरों को भी अपनाया हमने,
जो जिससे मिला सीखा हमने, गैरों को भी अपनाया हमने,
मतलब के लिए अंधे होकर, रोटी को नहीं पूजा हमने,
रोटी को नहीं पूजा हमने,
अब हम तो क्या सारी दुनिया, सारी दुनिया से कहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं
जिस देश में गंगा बहती है।

होठों पे सच्चाई रहती है, जहां दिल में सफाई रहती है,
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

6. जहां डाल डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा

भारत देश की समृद्धी और संस्कृति के बारे में बताता यह देशभक्ति गीत सिकंदर-ए-आजम  से लिया गया है।

जहां डाल डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा।

गुरुब्रह्मा गुरुविष्णु
गुरुदेव महेश्वरा
गुरु साक्षात परब्रह्म
तत्समये श्री गुरुवे नम:

जहां डाल डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जहां डाल डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जहां सत्य अहिंसा और धर्म का पग-पग लगता डेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जय भारती, जय भारती, जय भारती, जय भारती

ये धरती वो जहां ॠषि मुनि जपते प्रभु नाम की माला,
हरि ओम, हरि ओम, हरि ओम, हरि ओम,
जहां हर बालक एक मोहन है और राधा हर एक बाला,
और राधा हर एक बाला,
जहां सूरज सबसे पहले आकर डाले अपना फेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जहां गंगा, जमुना, कृष्ण और कावेरी बहती जाए,
जहां उत्तर, दक्षण, पूरब, पश्चिम को अमृत पिलवाए,
ये अमृत पिलवाए,
कहीं ये तो फल और फूल उगाए केशर कहीं बिखेरा
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

अलबेलों की इस धरती के त्योहार भी हैं अलबेले,
कहीं दीवाली की जगमग है, होली के कहीं मेले,
कहीं दीवाली की जगमग है, होली के कहीं मेले,
होली के कहीं मेले,
जहां राग रंग और हंसी खुशी का चारों ओर है घेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जहां डाल डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जहां आसमां से बातें करते मंदिर और शिवाले,
जहां किसी नगर में किसी द्वार पर कोई न ताला डाले
कोई न ताला डाले
और प्रेम की बंसी जहां बजाता आए शाम सवेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जहां सत्य अहिंसा और धर्म का पग-पग लगता डेरा,
वो भारत देश है मेरा। वो भारत देश है मेरा।

जय भारती, जय भारती, जय भारती, जय भारती

7. है प्रीत जहां की रीत सदा

पूरब और पश्चिम फिल्म का यह गीत भारत की सभ्यता, प्रेम और महानता का वर्णन बेहद अच्छे तरीके से करता है।

जब जीरो दिया मेरे भारत ने, भारत ने, मेरे भारत ने
दुनिया को तब गिनती आई,
तारों की भाषा भारत ने, दुनिया को पहले सिखलाई,

देता न दशमलव भारत तो, यूं चांद पे जाना मुश्किल था,
धरती और चांद की दूरी का, अंदाजा लगाना मुश्किल था,

सभ्यता जहां पहले आई, सभ्यता जहां पहले आई
पहले जन्मी है जहां पे कला,
अपना भारत वो भारत है, जिसके पीछे संसार चला,
संसार चला और आगे बढ़ा, यूं आगे बढ़ा, बढ़ता ही गया,
भगवान करे ये और बढ़े, बढ़ता ही रहे और फूले-फले।
बढ़ता ही रहे और फूले-फले।

है प्रीत जहां की रीत सदा, है प्रीत जहां की रीत सदा
है प्रीत जहां की रीत सदा, मैं गीत वहां के गाता हूं,
भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं।

है प्रीत जहां की रीत सदा।

काले-गोरे का भेद नहीं, हर दिल से हमारा नाता है,
कुछ और न आता हो हमको, हमें प्यार निभाना आता है,
जिसे मान चुकी सारी दुनिया, हो जिसे मान चुकी सारी दुनिया
मैं बात, मैं बात वही दोहराता हूं,
भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं।
है प्रीत जहां की रीत सदा।

जीते हो किसी ने देश तो क्या, हमने तो दिलों को जीता है,
जहां राम अभी तक है नर में, नारी में अभी तक सीता है,
इतने पावन हैं लोग जहां, ओ इतने पावन हैं लोग जहां
मैं नित-नित, मैं नित-नित शीश झुकाता हूं,
भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं।
है प्रीत जहां की रीत सदा।

इतनी ममता नदियों को भी, जहां माता कहके बुलाते हैं,
इतना आदर इंसान तो क्या, पत्थर भी पूजे जाते हैं,
उस धरती पे मैंने जन्म लिया, हो उस धरती पे मैंने जन्म लिया
ये सोच, ये सोच के मैं इतराता हूं,
भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं।

है प्रीत जहां की रीत सदा।

8. ऐसा देस है मेरा

भारत की खूबसूरती को बयां करता वीर-जारा फिल्म का यह गीत बच्चों के साथ ही बड़ों के मन को भी छू जाएगा।

अंबर हेठां धरती वसदी, एथे हर रुत हंसदी
किन्ना सोणा देस है मेरा, देस है मेरा, देस है मेरा…..
किन्ना सोणा देस है मेरा, देस है मेरा, देस है मेरा, देस है मेरा…..

धरती सुनहरी अंबर नीला, हो धरती सुनहरी अंबर नीला,
हर मौसम रंगीला, ऐसा देस है मेरा हो ऐसा देस है मेरा,
ऐसा देस है मेरा हां ऐसा देस है मेरा,
बोले पपीहा कोयल गाए, बोले पपीहा कोयल गाए,
सावन घिर के आए,
ऐसा देस है मेरा हो ऐसा देस है मेरा,
ऐसा देस है मेरा हां ऐसा देस है मेरा,

कोठे ते का बोले ओये,
चिट्ठी मेरे माहिए दी,
विच आने दा वि ना बोले ओये
चिट्ठी मेरे माहिए दी

गेहूं के खेतों में कंघी जो करे हवाएं,
रंग-बिरंगी कितनी चुनरियां उड़-उड़ जाएं,
पनघट पर पनहारन जब गगरी भरने आए,
मधुर-मधुर तानों में कहीं बंसी कोई बजाए, लो सुन लो,

कदम-कदम पे है मिल जानी, कदम-कदम पे है मिल जानी कोई प्रेम कहानी,
ऐसा देस है मेरा हो ऐसा देस है मेरा,
ऐसा देस है मेरा हां ऐसा देस है मेरा,

ओ..मेरी जुगनी दे धागे पक्के,
जुगनी ओस दे मूंह तो फब्बे,
जीनु साड इश्क दी लग्गे,
ओए साईं मेरया ओ जुगनी,
वीर मेरेया जुगनी कहंदी है,
ओ नाम साईं दा लेंदी है,

ओ दिल कड लिता ई जींद मेरिये,

बाप के कंधे चढ़ के जहां बच्चे देखे मेले,
मेलों में नट के तमाशे, कुल्फी के चाट के ठेले,
कहीं मिलती मीठी गोली, कहीं चूरन की है पुड़िया,
भोले-भोले बच्चे हैं, जैसे गुड्डे और गुड़िया,
और इनको रोज सुनाये दादी नानी, रोज सुनाये दादी नानी, इक परियों की कहानी,
ऐसा देस है मेरा हो ऐसा देस है मेरा
ऐसा देस है मेरा हां ऐसा देस है मेरा

सड़के सड़के जांदी ए मुटियारे नी,
कंडा चुभा तेरे पैर बांकिए नारे नी,
ओये नी अडिये कंडा चुभा तेरे पैर बांकिये नारे नी,
कौन कडे तेरा कांडरा मुटियारे नी,
कौन सहे तेरी पीड़ बांकिये नारे नी,
ओये नी अडिये कौन सहे तेरी पीड बांकिये नारे नी,

हो हो हो मेरे देश में मेहमानों को भगवान कहा जाता है,
वो यहीं का हो जाता है, जो कहीं से भी आता है,
आ तेरे देस को मैंने देखा तेरे देस को मैंने जाना,
आ तेरे देस को मैंने देखा तेरे देस को मैंने जाना,
जाने क्यूं ये लगता है मुझको जाना पहचाना,
यहां भी वही शाम है वही सवेरा ओ, यहां भी वही शाम है वही सवेरा,
ऐसा ही देस है तेरा जैसा देस है मेरा हां ऐसा ही देस है मेरा जैसा देस है तेरा
ऐसा देस है मेरा जैसा देस है तेरा हां ऐसा देस है मेरा जैसा देस है तेरा…

9. दे दी हमें आजादी

जागृति फिल्म का यह गीत गांधी जी के बलिदान और देश के लिए दिए गए उनके योगदान का वर्णन करता है।

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

आंधी में भी जलती रही गांधी तेरी मशाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

धरती पे लड़ी तूने अजब ढंग की लड़ाई,
दागी न कहीं तोप न बंदूक चलाई,
दुश्मन के किले पर भी न की तूने चढ़ाई,
वाह रे फकीर खूब करामात दिखाई,
चुटकी में दुश्मनों को दिया देश से निकाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

रघुपति राघव राजा राम

शतरंज बिछा कर यहां बैठा था जमाना,
लगता था कि मुश्किल है फिरंगी को हराना,
टक्कर थी बड़े जोर की दुश्मन भी था दाना,
पर तू भी था बापू बड़ा उस्ताद पुराना,
मारा वो कस के दांव कि उल्टी सभी की चाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

रघुपति राघव रजा राम

जब-जब तेरा बिगुल बजा जवान चल पड़े,
मजदूर चल पड़े थे और किसान चल पड़े,
हिन्दू हो मुसलमान सिख पठान चल पड़े,
कदमों पे तेरे कोटि-कोटि प्राण चल पड़े,
फूलों की सेज छोड़ के दौड़े जवाहरलाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

रघुपति राघव रजा राम

मन में थी अहिंसा की लगन तन पे लंगोटी,
लाखों में घूमता था लिए सत्य की सोंटी,
वैसे तो देखने में थी हस्ती तेरी छोटी,
लेकिन तुझे झुकती थी हिमालय की भी चोटी,
दुनिया में तू बेजोड़ था इंसान बेमिसाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

रघुपति राघव रजा राम

जग में कोई जिया है तो बापू तू ही जिया,
तूने वतन की राह में सबकुछ लुटा दिया,
मांगा न कोई तख्त न तो ताज ही लिया,
अमृत दिया सभी को मगर खुद जहर पिया,
जिस दिन तेरी चिता जली रोया था महाकाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल,

रघुपति राघव रजा राम, रघुपति राघव रजा राम, रघुपति राघव रजा राम

10. भारत हमको जान से प्यारा है

भारत माता के प्रति आपने प्यार और समर्पण को दिखाता रोजा फिल्म का यह गीत हर किसी के दिल को छू जाता है।

भारत हमको जान से प्यारा है,
सबसे न्यारा गुलिस्तां हमारा है,

भारत हमको जान से प्यारा है,
सबसे न्यारा गुलिस्तां हमारा है,

सदियों से भारत भूमि, दुनिया कि शान है,
भारत मां कि रक्षा में जीवन कुर्बान है,
भारत हमको जान से प्यारा है,
सबसे न्यारा गुलिस्तां हमारा है,

उजड़े नहीं अपना चमन, टूटे नहीं अपना वतन,
गुमराह न कर दे कोई, बर्बाद न कर दे कोई,
मन्दिर यहां मस्जिद यहां, हिन्दु यहां मुस्लिम यहां,
मिलते रहे हम प्यार से, जागो …

हिन्दुस्तानी नाम हमारा है, सबसे प्यारा देश हमारा है,
हिन्दुस्तानी नाम हमारा है, सबसे प्यारा देश हमारा है,
जन्मभूमि है हमारी, शान से कहेंगे हम,
सब ही तो भाई भाई, प्यार से रहेंगे हम,
हिन्दुस्तानी नाम हमारा है, भारत हमको जान से प्यारा है,

आसाम से गुजरात तक, बंगाल से महाराष्ट्र तक
जाती कई धुन एक है, भाषा कई सुर एक है,
कश्मीर से मद्रास तक, कह दो सभी हम एक हैं,
आवाज दो हम एक हैं, जागो …

11. ऐ मेरे वतन के लोगों

कवि श्री प्रदीन जी द्वारा लिखित और दिल्ली स्टेडियम में सन् 1963 में स्वर कोकिला श्रीमती लता मंगेशकर द्वारा प्रस्तुत किया गया यह गाना हर किसी को उन महान सैनिकों की याद दिलाता है, जिन्होंने देश के लिए अपना सब कुछ कुर्बान कर दिया।

ऐ मेरे वतन के लोगों,
तुम खूब लगा लो नारा,
ये शुभ दिन है हम सब का,
लहरा लो तिरंगा प्यारा,
पर मत भूलो सीमा पर,
वीरों ने है प्राण गंवाए,
कुछ याद उन्हें भी कर लो,
कुछ याद उन्हें भी कर लो,
जो लौट के घर न आए,
जो लौट के घर न आए,

ऐ मेरे वतन के लोगों,
जरा आंख में भर लो पानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी

ऐ मेरे वतन के लोगों,
जरा आंख में भर लो पानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी

तुम भूल न जाओ उनको,
इसलिए सुनो ये कहानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी,

जब घायल हुआ हिमालय,
खतरे में पड़ी आजादी,
जब तक थी सांस लड़े वो,
जब तक थी सांस लड़े वो,
फिर अपनी लाश बिछा दी,
संगीन पे धर कर माथा,
सो गए अमर बलिदानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी,

जब देश में थी दीवाली,
वो खेल रहे थे होली,
जब हम बैठे थे घरों में,
जब हम बैठे थे घरों में,
वो झेल रहे थे गोली,
थे धन्य जवान वो अपने,
थी धन्य वो उनकी जवानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी,

कोई सिख, कोई जाट, मराठा,
कोई सिख, कोई जाट, मराठा,
कोई गुरखा, कोई मदरासी,
कोई गुरखा, कोई मदरासी,
सरहद पर मरने वाला,
सरहद पर मरने वाला,
हर वीर था भारतवासी,
जो खून गिरा पर्वत पर,
वो खून था हिंदुस्तानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी,

थी खून से लथ-पथ काया,
फिर भी बंदूक उठाके,
दस-दस को एक ने मारा,
फिर गिर गए होश गंवा के,
जब अंत समय आया तो,
जब अंत समय आया तो,
कह गए के अब मरते हैं,
खुश रहना देश के प्यारों,
खुश रहना देश के प्यारों,
अब हम तो सफर करते हैं,
अब हम तो सफर करते हैं,
क्या लोग थे वो दीवाने,
क्या लोग थे वो अभिमानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी,

तुम भूल न जाओ उनको,
इसलिए कही ये कहानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी,
जरा याद करो कुर्बानी,
जय हिन्द, जय हिन्द,
जय हिन्द की सेना,
जय हिन्द, जय हिन्द,
जय हिन्द की सेना,
जय हिन्द, जय हिन्द, जय हिन्द,

12. मेरे देश की धरती

अपने देश की धरती का गुण गान करने के लिए उपकार फिल्म में गाया गया यह गीत बच्चों के लिए देश की मिट्टी का महत्व बताने का सुंदर तरीका हो सकता है।

आ आ आ, ओ ओ ओ
आ आ आ, ओ ओ ओ

मेरे देश की धरती
मेरे देश की धरती, सोना उगले, उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती,

मेरे देश की धरती,
मेरे देश की धरती, सोना उगले, उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती, मेरे देश की धरती

आ आ आ, ओ ओ ओ
आ आ आ, ओ ओ ओ

बैलों के गले में जब घुंघरू जीवन का राग सुनाते हैं
जीवन का राग सुनाते हैं,
गम कोस दूर हो जाता है, खुशियों के कंवल मुस्काते हैं,
खुशियों के कंवल मुस्काते हैं,
ओ ओ ओ
सुन के रहट की आवाजें,
सुन के रहट की आवाजें यूं लगे कहीं शहनाई बजे,
यूं लगे कहीं शहनाई बजे,
आते ही मस्त बहारों के दुल्हन की तरह हर खेत सजे,
दुल्हन की तरह हर खेत सजे,

मेरे देश की धरती,
मेरे देश की धरती, सोना उगले, उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती, मेरे देश की धरती,

जब चलते हैं इस धरती पे हल ममता अंगड़ाइयां लेती है,
ममता अंगड़ाइयां लेती है,
क्यों न पूजें इस माटी को जो जीवन का सुख देती है,
जो जीवन का सुख देती है,
ओ ओ ओ ओ
इस धरती पे जिसने जन्म लिया,
इस धरती पे जिसने जन्म लिया उसने ही पाया प्यार तेरा,
उसने ही पाया प्यार तेरा,
यहां अपना पराया कोई नहीं,
यहां अपना पराया कोई नहीं है सब पे है मां उपकार तेरा,
है सब पे है मां उपकार तेरा,

मेरे देश की धरती
मेरे देश की धरती, सोना उगले, उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती, मेरे देश की धरती,

ये बाग हैं गौतम नानक का खिलते हैं अमन के फूल यहां,
खिलते हैं अमन के फूल यहां,

गांधी, सुभाष, टैगोर, तिलक ऐसे हैं चमन के फूल यहां,
ऐसे हैं चमन के फूल यहां,
रंग हरा हरि सिंह नलवे से, रंग लाल है लाल बहादुर से,
रंग बना बसंती भगत सिंह, रंग बना बसंती भगत सिंह,
रंग अमन का वीर जवाहर से, रंग अमन का वीर जवाहर से,

मेरे देश की धरती,
मेरे देश की धरती, सोना उगले, उगले हीरे मोती,
मेरे देश की धरती, मेरे देश की धरती,

मेरे देश की धरती,
मेरे देश की धरती, सोना उगले, उगले हीरे मोती
मेरे देश की धरती, मेरे देश की धरती

13. वन्दे मातरम

वंदे मातरम एल्बम का यह गाना सुनकर हर किसी के मन में देशप्रेम का सागर उमड़ पड़ता है।

मां……

वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,

यहां वहां सारा जहां देख लिया है,
कहीं भी तेरे जैसा कोई नहीं है,
80 नहीं 100 दिन दुनिया घूमा है,
नहीं कहीं तेरे जैसा कोई नहीं,

मैं गया जहां भी,
बस तेरी याद थी,
जो मेरे साथ थी,
मुझको तड़पाती रुलाती,
सबसे प्यारी तेरी सूरत,
प्यार है बस तेरा प्यार ही,

मां तुझे सलाम,
मां तुझे सलाम,
अम्मा तुझे सलाम,

वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,

जनम जनम, तेरा हूं दीवाना मैं,
झूमूं, नाचूं, गाऊं तेरे प्यार का तराना मैं,
चंदा नहीं, सूरज नहीं, दुनिया की दौलत नहीं,
बस लूटूंगा, तेरे प्यार का खजाना,
इक नजर जब तेरी,
होती है प्यार की,
दुनिया तब तो मेरी,
चमके दमके महके रे,
तेरा चेहरा सूरज जैसा,
चांद-सी ठंड है प्यार में,

वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,

तेरे पास ही मैं आ रहा हूं,
अपनी बाहें खोल दे,
जोर से मुझको गले लगा ले,
मुझको फिर वो प्यार दे,

मां.. ओ ओ ओ..

तू ही जिंदगी है,
तू ही मेरी मोहब्बत है,
तेरे ही पैरों में जन्नत है,
तू ही दिल, तू जां, अम्मा…

मां तुझे सलाम,
मां तुझे सलाम,
अम्मा तुझे सलाम,
मां तुझे सलाम,

वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,
वन्दे मातरम, वन्दे मातरम,

14. ऐ वतन तेरे लिए 

शायद ही ऐसा होई हो जो कर्मा फिल्म के इस गीत को सुनकर देश मर मिटने के लिए तैयार न हाे जाए। बच्चों की आवाज में देश के प्रति प्यार बढ़ाने में यह गीत हर किसी के लिए प्रेरणा बन सकता है।

मेरा कर्मा तू, मेरा धर्मा तू,
तेरा सब कुछ मैं, मेरा सब कुछ तू,

आ आ आ….

हर करम अपना करेंगे,
हर करम अपना करेंगे,
ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

हर करम अपना करेंगे,
ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

हर करम अपना करेंगे,
ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

तू मेरा कर्मा, तू मेरा धर्मा,
तू मेरा अभिमान है,

ऐ वतन महबूब मेरे तुझपे दिल कुर्बान है,
ऐ वतन महबूब मेरे तुझपे दिल कुर्बान है,

हम जिएंगे और मरेंगे,
ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई,
हम वतन, हम नाम हैं,

हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई,
हम वतन, हम नाम हैं,

जो करे इनको जुदा मजहब नहीं इल्जाम है,
हम जिएंगे और मरेंगे,
ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

तेरी गलियों में चलाकर नफरतों की गोलियां,
लूटते हैं कुछ लुटेरे दुल्हनों की डोलियां,
लूटते हैं कुछ लुटेरे दुल्हनों की डोलियां,

लुट रहे हैं आप वो अपने घरों को लूट कर,
लुट रहे हैं आप वो अपने घरों को लूट कर,
खेलते हैं बेखबर अपने लहू से होलियां,

हम जिएंगे और मरेंगे ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए

हर करम अपना करेंगे,
ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

हर करम अपना करेंगे,
ऐ वतन तेरे लिए,
दिल दिया है,
जां भी देंगे ऐ वतन तेरे लिए,

ऐ वतन तेरे लिए, ऐ वतन तेरे लिए, ऐ वतन तेरे लिए

ला ला ला ला….

15. मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन

यहां हम दिलजले फिल्म का ऐसा गीत प्रस्तुत कर रहे हैं, जिसकी हर लाइन को हमें फॉलो करना चाहिए और अपने बच्चों को भी सिखाना चाहिए।

मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन,
शांति का उन्नति का प्यार का चमन,

इसके वास्ते निसार है मेरा तन मेरा मन,
ए वतन, ए वतन, ए वतन,
जानेमन, जानेमन, जानेमन,

ए वतन, ए वतन, ए वतन,
जानेमन, जानेमन, जानेमन,

मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन,
शांति का उन्नति का प्यार का चमन,

इसकी मिट्टी से बने तेरे मेरे ये बदन,
इसकी धरती तेरे मेरे वास्ते गगन,
इसने ही सिखाया हमको जीने का चलन,
जीने का चलन..
इसके वास्ते निसार है मेरा तन मेरा मन,
ए वतन, ए वतन, ए वतन
जानेमन, जानेमन, जानेमन
मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन
शांति का उन्नति का प्यार का चमन

अपने इस चमन को स्वर्ग हम बनाएंगे,
कोना-कोना अपने देश का सजाएंगे,
जश्न होगा जिंदगी का, होंगे सब मगन,
होंगे सब मगन..
इसके वास्ते निसार है मेरा तन मेरा मन,
ए वतन, ए वतन, ए वतन,
जानेमन, जानेमन, जानेमन,

मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन,
शांति का उन्नति का प्यार का चमन,

मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन
शांति का उन्नति का प्यार का चमन,

इसके वास्ते निसार है मेरा तन मेरा मन,
ए वतन, ए वतन, ए वतन
जानेमन, जानेमन, जानेमन,

मेरा मुल्क मेरा देश मेरा ये वतन,
शांति का उन्नति का प्यार का चमन,

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top