21st Century Skills Activity Evaluation : 21 वी सदी कौशल आधारित गतिविधियों का मूल्यांकन :

Table of Contents

21st Century Skills Activity :21 वी सदी कौशल आधारित गतिविधियां

21वीं सदी के कौशलों पर आधारित गतिविधियां शिक्षण शास्त्र (Pedagogy) का वह तरीका है जहां कला का उपयोग अनुभवात्मक अधिगम के साधन के रूप में किया जाता है, जिसमें विद्यार्थी अवलोकन, कल्पना, अन्वेषण, प्रयोग, सृजन और ज्ञान के अनुप्रयोग के विभिन्न चरणों से गुजरता है ।

CCLE कार्यक्रम के मूल्यांकन करने में पारंपरिक पेपर पेंसिल या मौखिक और याद करके सुनाने वाली पद्धति से परे एक सतत और समग्र मूल्यांकन प्रणाली के जरिए विद्यार्थी के विषय संबंधी समझ के साथ-साथ सामाजिक विकास को समझने में भी मदद करती है । इसलिए यह दक्षता आधारित शिक्षा और कौशल आधारित शिक्षा का आकलन करने के लिए एक प्रभावी उपकरण बन जाता है ।

21वीं सदी के कौशलों पर आधारित गतिविधियों के मूल्यांकन करने के लिए अध्यापक को निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए :

21st Century Skills Activity Evaluation Techniques:

पूर्वधारणा से मुक्त (Non Judgemental ) :- अध्यापक को अपने पूर्वाग्रहों को प्रतिबंधित नहीं करना चाहिए । यह विद्यार्थियों से बातचीत के दौरान उसकी ऐसी अवधारणा दिखाई भी नहीं देनी चाहिए ।

तुलना रहित :- अध्यापक को छात्रों काआकलन योग्यता के आधार पर करना चाहिए ।

गैर प्रतियोगी :- CCLE आधारित मूल्यांकन एक आनंदमयी गतिविधि होनी चाहिए, जहां हर बच्चे को एक दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा किए बिना भाग लेने और उसे स्वीकार करने का समान अवसर मिलता है ।

सीसीएलए आधारित आकलन एक निरंतर चलने वाली On Going प्रक्रिया है जो सीखने की स्पष्ट पहचान के परिणामों के साथ शुरू होती है और शिक्षण अधिगम प्रक्रिया में कई बिंदुओं पर हो सकती है ।

भयमुक्त :- CCLE कार्यक्रम पर आधारित मूल्यांकन एक भयमुक्त गतिविधि है जहां बच्चे बिना किसी भय के, असफलता के डर से और उनके बारे में क्या सोचा जा रहा है, इस भावना से मुक्त होकर अपना प्रदर्शन करते हैं । CCLE आधारित मूल्यांकन में व्यापक मूल्यांकन के विभिन्न पद्धतियों और तकनीकों का प्रयोग कर सकते हैं ।

CCLE आधारित मूल्यांकन एक अनोखा मंच है, जहां व्यक्तिगत और समूह प्रदर्शन दोनों का आकलन, योग्यता आधारित शिक्षण परिणामों के लिए किया जाता है । अध्यापक विद्यार्थी के मौखिक और गैर मौखिक दोनों भाव का आकलन कर सकते हैं । मौखिक अभिव्यक्ति मुख्य रूप से मौखिक संचार का एक तरीका है जैसे भाषण प्रस्तुति और घोषणाओं के साथ-साथ दोस्तों के साथ बातचीत आदि । गैर मौखिक अभिव्यक्ति अदृश्य संकेत है जिनमें हावभाव, चेहरे के भाव, शरीर के लायक गति, स्पर्श और बिना बोले संवाद करने का कोई अन्य तरीका शामिल है ।

CCLE कार्यक्रम में मूल्यांकन सुविधाकर्ता को छात्र के एक भावनात्मक और जीवन कौशल विकास का आकलन करने की अनुमति देता है । यह कौशल रचनात्मक सोच, आलोचनात्मक सोच, सहानुभूति, तनाव का सामना करना, भावनाओं पर नियंत्रण, अंतर वैयक्तिक संबंध, प्रभावी संचार कौशल, निर्णय लेने का कौशल, आत्म जागरूकता और समस्या समाधान है ।

Do’s for CCLE 21st Century Skills Activity Evaluation

  1. विद्यार्थी की प्रशंसा करें और उसके प्रयासों को पहचाने .
  2. प्रक्रिया का आकलन करें उत्पाद का नहीं
  3. रचनात्मक प्रतिक्रिया दें
  4. गुणात्मक और उत्साहजनक टिप्पणी करें
  5. विशेष आवश्यकता वाले सभी छात्रों को समान अवसर दें
  6. सीखने वाले की गति का सम्मान करें और योजना बनाकर की जा रही गतिविधि के समय को लेकर लचीला रहे, जो छात्र अभी भी कार्य समाप्ति की ओर है ,उन्हें अवसर प्रदान करें
  7. खुले उत्तर (Open End) वाले प्रश्न पूछे, जो उन्हें लिखने, बात करने, ड्राइंग योजना बनाने की जगह दे सके, हर बच्चे के मूल आर्टवर्क (बिना सुधारे हुए ) को प्रदर्शित करें । भले ही काम अधूरा हो ।
  8. शिक्षक शिक्षण प्रक्रिया के दौरान कक्षा में प्रदर्शित चीजों का, संदर्भ की तरह प्रयोग करें ।
  9. विद्यार्थी के पूर्व कार्य से ही उसकी प्रगति की तुलना करें

Dont’s for CCLE 21st Century Skills Activity Evaluation

  1. कलात्मकता, गुणवत्ता पर टिप्पणी ना करें
  2. छात्रों के कलाकृति की एक दूसरे से तुलना ना करें
  3. पूर्व निर्धारित धारणाओं के साथ कक्षा में ना जाएं

Evaluation System : मूल्यांकन पद्धति

21वीं सदी आधारित CCLE स्कूल शिक्षा प्रणाली के अंतर्गत विद्यार्थी CCLE गतिविधियों में एक शिक्षण सत्र यानी कुल 7 माह में जीतने अंक प्राप्त करेगा, उन प्राप्त कुल अंकों का 20% वर्ष के अंत में उसके अंतिम परीक्षा फल में जोड़ा जाएगा । इस प्रणाली के अंतर्गत वार्षिक अंकों की गणना इस प्रकार होगी :=

त्रैमासिक परीक्षा में प्राप्त कुल अंकों से 5%, वार्षिक परीक्षा में प्राप्त अंकों से 5%, वार्षिक परीक्षा में प्राप्त अंकों से 70% और सी सी एल ई गतिविधियों में प्राप्त कुल अंकों से 20% अंक । इन सभी अंकों का योग विद्यार्थी का अंतिम परीक्षा फल होगा ।

  • त्रैमासिक परीक्षा (500 अंक) 5%,
  • अर्धवार्षिक परीक्षा (500 अंक) 5%,
  • वार्षिक परीक्षा (500 अंक) 70%
  • CCLE (500 अंक) 20%

CCLE के 500 अंकों का वर्गीकरण

  • लेखन की प्रत्येक साप्ताहिक गतिविधि के लिए 20 अंक
  • वक्तृत्व गतिविधि के लिए 20 अंक
  • प्रश्नोत्तरी गतिविधि के लिए 15 अंक
  • दृश्य व प्रदर्शन कला गतिविधि के लिए 15 अंक निर्धारित किए गए हैं
  • विद्यार्थी की वार्षिक उपस्थिति के लिए 10 अंक दिए जाते हैं ।

CCLE गतिविधि के कुल वार्षिक अंको का वर्गीकरण :-

  • लेखन : 20 अंक x 1 सप्ताह x  7 माह = 140 अंक
  • वक्तृत्व : 20 अंक x 1 सप्ताह x  7 माह = 140 अंक
  • प्रश्नोत्तरी : 15 अंक x 1 सप्ताह x 7  माह = 105 अंक
  • दृश्य व प्रदर्शन कला : 15 अंक x 1 सप्ताह x 7  माह = 105 अंक
  • वार्षिक उपस्थिति : 10 अंक
  • CCLE गतिविधि कुल योग = 500 अंक

साप्ताहिक गतिविधियों में अंकों का वर्गीकरण :-

लेखन गतिविधियां

निबंध 20 अंक
  1. विषय वस्तु 10 अंक
  2. भाषा शैली, व्याकरण 4 अंक
  3. क्रमबद्धता 2 अंक
  4. प्रस्तावना एवं उपसंहार 4 अंक
समाचार पत्र लेखन 20 अंक
  1. मुखपृष्ठ एवं शीर्षक में रचनात्मकता 5 अंक
  2. अखबार की विषय वस्तु (खबरों का संकलन एवं लेखन) 5 अंक
  3. समूह कार्य एवं परस्पर सहयोग 5 अंक
  4. प्रामाणिकता एवं विश्वसनीयता 5 अंक
कहानी कविता नाट्य लेखन 20 अंक
  1. विषय वस्तु 5 अंक
  2. रचनात्मकता मौलिक विचार 5 अंक
  3. समग्र प्रभाव 5 अंक
  4. भाषा शैली व्याकरण 5 अंक
प्रोजेक्ट परिकल्पना लेखन 20 अंक
  1. समस्या के विषय में समझ एवं कारणों की पहचान 5 अंक
  2. प्रस्तावित समाधान में रचनात्मकता एवं नवाचार 5 अंक
  3. समूह कार्य एवं परस्पर सहयोग 5 अंक
  4. दस्तावेज एवं प्रस्तुतीकरण 5 अंक
स्व विवरण / रिज्यूमे लेखन 20 अंक
  1. स्पष्ट लक्ष्य (कैरियर विकल्प) 5 अंक
  2. कौशल एवं दक्षता 5 अंक
  3. उपलब्धियां एवं रूचि के क्षेत्र 5 अंक
  4. सुधार के क्षेत्र 5 अंक

वक्तव्य गतिविधियां

भाषण 20 अंक
  1. विषय वस्तु 5 अंक
  2. शैली 5 अंक
  3. प्रस्तुतीकरण 5 अंक
  4. समग्र प्रभाव 5 अंक
वाद-विवाद / डिबेट 20 अंक
  1. विषय वस्तु 5 अंक  
  2. भाषा शैली 5 अंक
  3. प्रभावी प्रस्तुतीकरण 5 अंक
  4. तथ्यात्मक एवं आंकड़ों पर आधारित तर्क वितर्क 5 अंक
कहानी वाचन 20 अंक
  1. कहानी की विषय वस्तु 5 अंक
  2. भाषा शैली 5 अंक
  3. प्रस्तुतीकरण 5 अंक
  4. समग्र प्रभाव 5 अंक
पेपर / पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन 20 अंक
  1. प्रेज़न्टैशन की विषय वस्तु 5 अंक
  2. आत्मविश्वास 5 अंक
  3. समूह प्रस्तुतीकरण 5 अंक
  4. श्रोताओं के प्रश्नों का उत्तर 5 अंक
स्वर कविता वाचन 20 अंक
  1. कविता का चयन एवं स्मृति 5 अंक
  2. भाषा शैली एवं उच्चारण 5 अंक
  3. लयात्मक प्रस्तुती 5 अंक
  4. समग्र प्रभाव 5 अंक

प्रश्न मंच

प्रश्न मंच पर 15 अंक : क्योंकि यह एक प्रश्न गतिविधि है इसलिए प्रत्येक राउंड में प्रश्नों के अनुसार सही उत्तर देने के लिए प्रत्येक गतिविधि हेतु 15 अंक निर्धारित हैं ।

दृश्य कला एवं प्रदर्शन कला

दृश्य कला
ड्राइंग /पेंटिंग / आर्ट / क्राफ्ट 15 अंक
  1. रचनात्मकता (रंगो एवं सामग्री का उपयोग) 5 अंक
  2. स्वयं के विचारों की अभिव्यक्ति 5 अंक
  3. प्रस्तुतीकरण (सुंदरता एवं रंगों का संयोजन) 5 अंक
प्रदर्शन कला
नाटक संगीत प्रस्तुतीकरण 15 अंक
  1. कथानक चरित्र चित्रण 5 अंक
  2. आत्म विश्वास एवं प्रस्तुतीकरण 5 अंक
  3. समग्र प्रभाव 5 अंक

मूल्यांकन हेतु आवश्यक दिशा निर्देश :

  1. बाल सभा में प्रत्येक शनिवार वर्ष भर की उपस्थिति के लिए 10 अंक निर्धारित किए गए हैं ।
  2. उपरोक्त अनुसार कुल 500 अंकों में से अंक प्रदान किए जाएंगे ।
  3. समूह गतिविधियों में सदन / हाउस के सभी छात्रों की सहभागिता को भी ध्यान में रखा जाएगा ।
  4. किन्हीं एकल प्रस्तुतियों के आधार पर सदन हाउस को अंक नहीं दिए जाएंगे ।
  5. इसी प्रकार पूरी शाला की कक्षाओं का योगफल से जोड़कर प्रत्येक हाउस का पूरी शाला का कुल योग फल माहवार परिणाम प्राप्त होगा ।
  6. प्रत्येक माह में कोई न कोई सदन / हाउस विजेता होगा, जिसकी घोषणा अगले माह प्रार्थना शभा में  सदन हाउस में की जाएगी ।
  7. वर्ष के अंदर में विभिन्न सदन / हाउसों को उनको अंकों के आधार पर प्रथम से चतुर्थ स्थान दिया जाएगा ।
  8. विभिन्न सदन हाउसों के 10% विद्यार्थी जिन्होंने शाला में अधिकतम अंक प्राप्त किए हैं उन्हें वार्षिकोत्सव में प्रमाण पत्र दिया जाएगा ।
  9. शाला विकास निधि की उपलब्धता के अनुसार पुरस्कार भी दिया जा सकता है । जिस हाउस को अधिकतम अंक प्राप्त होंगे, उन्हें रनिंग शील्ड ट्रॉफी दी जाएगी ।
  10. रनिंग शील्ड सदन / हाउस के सदन हाउस प्रभारी शिक्षक व शाला के हाउस कैप्टन द्वारा प्राप्त की जाएगी ।
  11. प्रत्येक छात्र से बालसभा गतिविधियां हेतु छात्र पुस्तिकाएं बनवाएं जिसमें वहां की गतिविधियां उदाहरणार्थ निबंध, अशुभाषण आदि का वर्णन एवं आगामी शनिवार की गतिविधि की जानकारी हो ।
  12. प्राचार्य सभी गतिविधियों की मॉनिटरिंग करेंगे एवं अधीनस्थ समस्त शिक्षकों को विषय एवं योग्यता अनुसार सामाजिक गतिविधियों का सफल संचालन कराएंगे । शिक्षक समय-समय पर छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे ।

Documentation : दस्तावेजीकरण

21वीं सदी आधारित सीसीएलई के अंतर्गत दस्तावेजकरण भी उतना ही आवश्यक है जितना कि मूल्यांकन । दस्तावेजीकरण के लिए निर्धारित प्रपत्र में आपको मूल्यांकन का दस्तावेजीकरण करना होता है । इसके अलावा कुछ प्रमुख बातों का ध्यान रखना होता है वह है :-

  1. प्लानिंग / मीटिंग रजिस्टर मेंटेन करना
  2. उपस्थिति रजिस्टर मेंटेन करना
  3. सदनवार कक्षा एवं विद्यालय का परिणाम तैयार करना
  4. मूल्यांकन प्रपत्र भरना
  5. छात्रों द्वारा प्रस्तुत किए गए आर्टवर्क की फाइलिंग करना
  6. आवश्यकतानुसार फोटो वीडियोस लेना एवं शेयर करना
  7. आर्टवर्क आयोजित करना

Evaluation Formats : मूल्यांकन प्रपत्र

CCLE गतिविधियों के अंक संधारण की प्रक्रिया एवं प्रयोग होने वाले प्रपत्रों की जानकारी प्राप्त करेंगे । CCLE गतिविधियों हेतु प्रत्येक विद्यार्थी के लिए 500 अंक निर्धारित हैं । जिनका विवरण मुख्य रूप से निम्न है : –

21st Century Skills Activity Evaluation
21st Century Skills Activity Evaluation

प्रत्येक विद्यार्थी के लिए प्रपत्र निम्न प्रकार से बनाया जाएगा :-

CCLE मूल्यांकन हेतु प्रपत्र
क्रमांक अनुक्रमांक छात्र / छात्रा का नाम सदन का नाम
    
 माहमाह की विषयवस्तुअंक
1जुलाई1निबंध20
2वाद विवाद20
3प्रश्नोत्तरी15
4नृत्य/संगीत15
2अगस्त1समाचार पत्र लेखन20
2आशु भाषण20
3पहेलियाँ/प्रश्नोत्तरी15
4चित्रकला गतिविधियां15
3सितंबर1कहानी/कविता लेखन20
2कहानी/कविता वचन20
3चित्र आधारित प्रश्नोत्तरी15
4विज्ञान के अनुप्रयोग15
4अक्टूबर1प्रोजेक्ट परिकल्पना20
2पेपर/पावर पॉइंट प्रेज़न्टैशन20
3प्रश्नोत्तरी15
4क्राफ्ट गतिविधियां15
5नवंबर1स्व-विवरण20
2साक्षात्कार अभ्यास20
3संख्यात्मक अभियोग्यता15
4पोस्टर/क्राफ्ट निर्माण15
6दिसंबर1कविता/कहानी/नाट्य लेखन20
2पेपर/प्रेज़न्टैशन भाषण20
3प्रश्नोत्तरी/पहेलियाँ15
4नाटक/एकाँकी मंचन15
7जनवरी1वार्षिक पत्रिका लेखन20
2सस्वर कविता वाचन20
3प्रश्नोत्तरी15
4कला/गीत/नाटक/प्रहसन15
 कुलयोग 490
 सम्पूर्ण सत्र में बालसभा में नियमित उपस्थिति पर 10
 महायोग 500
 अकादमिक वार्षिक परीक्षा के परीक्षा परिणाम के 20% अधिभार
21st Century Skills Activity Evaluation

Read More :


Origin of CCLE : CCLE की उत्पत्ति

What is CCLE : CCLE क्या है ?

Introduction of CCLE : CCLE परिचय

21st Century Skills : 21 वी सदी के कौशल

CCLE की मासिक थीम पर आधारित गतिविधि

CCLE अंतर्गत प्राचार्य और शिक्षकों की भूमिका और दायित्व

सदन / House निर्माण कैसे करें

प्रथम सप्ताह : लेखन कौशल आधारित गतिविधियां

द्वितीय सप्ताह : भाषण आधारित गतिविधियां : Speech Based Activities

तृतीय सप्ताह : प्रश्नोत्तरी आधारित गतिविधियां : Quiz Based Activities

चतुर्थ सप्ताह : प्रदर्शन आधारित गतिविधियां : Presentation Based Activities

21 वी सदी कौशल आधारित गतिविधियों का मूल्यांकन : 21st Century Skills Evaluation

Read Another Documents from Here :- https://mpeducator.co.in/

FAQs : अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न :

  1. पेडागोजी क्या है और कैसे यह 21वीं सदी के कौशलों पर आधारित है?
    • पेडागोजी एक शिक्षा दृष्टिकोण है जिसमें कला का उपयोग अनुभवात्मक अधिगम के रूप में किया जाता है, और यह 21वीं सदी के कौशलों पर आधारित है।
  2. 21वीं सदी के कौशलों पर आधारित शिक्षा किस तरह के चरणों से गुजरती है?
    • इस शिक्षा में विद्यार्थी अवलोकन, कल्पना, अन्वेषण, प्रयोग, सृजन, और ज्ञान के अनुप्रयोग के विभिन्न चरणों से गुजरते हैं।
  3. CCLE कार्यक्रम क्या है और इसका मूल्यांकन कैसे होता है?
    • CCLE कार्यक्रम एक मूल्यांकन प्रणाली है जो पारंपरिक पेपर पेंसिल या मौखिक और याद करके सुनाने वाली पद्धतियों से परे है, और इसमें सतत और समग्र मूल्यांकन होता है।
  4. क्या इस पेडागोजी ने विद्यार्थियों के सामाजिक विकास में कैसे मदद की है?
    • यह पेडागोजी विद्यार्थियों के सामाजिक विकास को समझने में मदद करती है क्योंकि इसमें सतत मूल्यांकन प्रणाली होती है, जिससे सामाजिक विकास को भी बढ़ावा मिलता है।
  5. क्या इस पेडागोजी का उपयोग शिक्षा के क्षेत्र में क्यों महत्वपूर्ण है?
    • हां, इस पेडागोजी का उपयोग शिक्षा क्षेत्र में महत्वपूर्ण है क्योंकि यह छात्रों को 21वीं सदी की मांगों के अनुसार तैयार करने में मदद करता है, जैसे कि मूल चिंतन, सृजनात्मकता, और समस्या समाधान कौशल।
  6. विद्यार्थियों के शिक्षा में 21वीं सदी के कौशलों पर आधारित शिक्षा को कैसे समर्थन दिया जा सकता है?
    • विद्यार्थियों को गतिविधियों में सक्रिय भागीदारी करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है, उनके मन में सवाल उत्पन्न करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है, और उनके साथ खुली चर्चा करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है।
Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top